C Karun Shankar

17 Flips | 6 Magazines | @CKarunShankar | Keep up with C Karun Shankar on Flipboard, a place to see the stories, photos, and updates that matter to you. Flipboard creates a personalized magazine full of everything, from world news to life’s great moments. Download Flipboard for free and search for “C Karun Shankar”

कोयला खनन पर गहराता विरोध

<b>भारत में कोयला खदानों के कथित निजीकरण के विरोध में हड़ताल ख़त्म होने के बाद अब छत्तीसगढ़ के ग्रामीण लोगों ने खनन के विरोध में स्वर तेज़ कर दिया है.</b><p>छत्तीसगढ़ के हसदेव-अरण्य क्षेत्र की 16 ग्राम सभाओं और धरमजयगढ़ क्षेत्र की चार ग्राम सभाओं ने पारित किए गए अपने प्रस्ताव में किसी भी प्रकार के खनन का …

तैयार है बाइक राइडर्स के लिए एयरबैग

<b>सुरक्षा के लिए एयरबैग अभी सिर्फ़ कारों में ही इस्तेमाल होते हैं, लेकिन अब मोटरसाइकिल सवारों के लिए एयरबैग की तैयारी है.</b><p>साइकिल स्पोर्ट्स आउटवीयर बनाने वाली कंपनी एल्पाइनस्टार्स ने बाइक सवारों के लिए एयरबैग तैयार किया है.<p>दुर्घटना की स्थिति में ये एयरबैग बाइक राइडर्स को गंभीर चोटों से बचाएगा.<p>बनियान …

सिख दंगे, कश्मीर हिंसा...तस्वीरों में क़ैद दर्द

<b>खोज स्टूडियो ने हाल में मल्टीमीडिया कार्यों की प्रदर्शनी का आयोजन किया जिसमें देश-विदेश के कलाकारों ने "नेमलेस हियर फॉर एवेरमोर" शीर्षक से दुनिया में हो रही सामूहिक पीड़ा को तस्वीरों के माध्यम से लोगों तक पहुँचाने की कोशिश की.</b><p>चाहे 1984 के सिख दंगे हों, बस्तर के जंगलों की नक्सली हिंसा, कश्मीर हिंसा, …

भारत में पहला कॉल सेंटर खोलने वाला शख़्स

<b>प्रमोद भसीन उस शख़्स का नाम है, जिन्होंने 1998 में भारत का पहला कॉल सेंटर गुड़गांव में खोला. इसमें उस वक्त केवल 18 लोग काम करते थे.</b><p>यहां कर्मचारियों के काम करने की जगह एक दूसरे से छत से साड़ियां टांग कर अलग की गई थी.<p>असल में 1990 के दशक के आख़िर में व्यवसायी प्रमोद भसीन के दिमाग में एक आइडिया आया कि …

दूध के चक्कर में गायों की आफत | DW | 09.01.2015

भविष्य में नहीं दिखेंगे ये जानवर<p>खेती के लिए<p>इस इंडेक्स के मुताबिक जर्मनी अपनी जरूरतों से दुगना ज्यादा संसाधन इस्तेमाल करता है. खास तौर पर खेती के …

फ्रैकिंग से कांपती धरती | DW | 10.01.2015

खतरे में धरती, खतरे में जीवन<p>कहां जा रहे हैं बाघ<p>आमुर टाइगर जैसे जानवर अचानक लुप्त होते जा रहे हैं. भारत के हैदराबाद में जैव विविधता पर हुए सम्मेलन में …

पांच बातें जो दिमाग की रक्षा करेंगी | DW | 23.12.2014

'जो सोता है वो पाता है'<p>नई तकनीक ने छीन ली नींद<p>टीवी, सेलफोन और लैपटॉप की कीमत में अब नींद भी जुड़ गई है. हर इंसान की जरूरत बनते जा रहे ये गैजेट लोगों …

गैस त्रासदी की कीमत चुकाता भोपाल | DW | 02.12.2014

यादों से झर चुका झरिया<p>जल रहा है झरिया<p>झरिया में पिछले एक दशक से कोयले की खदानों में आग लगी हुई है, जिसका खामियाजा पर्यावरण और वहां रह रहे लोगों की …

बाल अधिकारों के लिए नोबेल विजेता | DW | 10.12.2014

गुमशुदा चेहरे...<p>बदनसीबी का साया<p>बचपन बचाओ आंदोलन द्वारा किए गए सर्वे के अनुसार भारत में हर घंटे करीब 11 बच्चे लापता हो रहे हैं जिनमें से चार कभी घर …

क्या रातों रात बन सकते हैं पर्यावरण रक्षक | DW | 12.12.2014

खतरे में ग्रेट बैरियर रीफ<p>समुद्र के नीचे विश्व धरोहर<p>उत्तरी ऑस्ट्रेलिया में स्थित ग्रेट बैरियर रीफ को 1981 में यूनेस्को ने विश्व धरोहर का दर्जा दिया. …

जलवायु परिवर्तन: आगे बढ़ने का आखिरी मौका | DW | 12.12.2014

जैव विविधता बचाने की कोशिश<p>खास ध्यान<p>जैव विविधता बचाने के लिए इस साल खास ध्यान विशेष पारिस्थितिकी तंत्र और ऐसी प्रजातियों पर है जो धरती पर और कहीं नहीं …

एड्स के मरीज गांव से बाहर | DW | 15.12.2014

एड्स का खतरनाक सफर<p>सुर्खियों में आया कासेनसेरो गांव<p>पश्चिमी यूगांडा के लेक विक्टोरिया इलाके में यह एक छोटा और गरीब गांव है. इसकी सीमा तंजानिया से लगी …

नशे के थ्री-डी इफेक्ट की चर्चा | DW | 15.12.2014

पहला डी यानि डार्कनेस, नशे से जीवन में अंधेरा फैलाता है. दूसरा डी यानि डिस्ट्रक्शन, नशा बर्बादी के मोड़ पर खड़ा कर देता है. और तीसरा डी यानि …

मंगल पर मीथेन - जिंदगी की निशानी? | DW | 17.12.2014

मंगल पर रोबोट<p>मंगल पर जश्न<p>वैसे तो सोचा गया था कि ऑपर्चुनिटी रोवर मंगल पर एक किलोमीटर से ज्यादा की दूरी तय नहीं करेगा. लेकिन दस साल पहले भेजे गए इस …

टी बी का दंश झेल चुका हूं: अमिताभ | DW | 22.12.2014

फिल्म महोत्सवों की पसंद<p>मराकेश फिल्म महोत्सव में फ्रांस की वरिष्ठ अभिनेत्री काथरीन डेन्यूव के साथ अमिताभ बच्चन.<p>2014 में कोलकाता के फिल्म महोत्सव में …

असम हमलों में मासूमों को भी नहीं बख्शा | DW | 24.12.2014

खत्म होता "स्वर्ग"<p>संकट में स्वर्ग<p>माजुली नदी में बना दुनिया का सबसे बड़ा द्वीप है. यह असम राज्य में स्थित है लेकिन यह अनोखा द्वीप जल्द ही नक्शे से मिट …

उरुग्वे से सीखिए किसानी | DW | 28.12.2014

जानलेवा कपास<p>जहर में डूबे<p>कपास की खेती में नुकसान के कारण जान देने वालों में से एक किसान. गैर सरकारी संगठनों के मुताबिक नब्बे के दशक से अब तक दो लाख से …